एक देश एक कानून की तर्ज पर एक क्लास एक चैनल की शुरुआत होगी

नई दिल्ली।

एक देश एक कानून तो आप लोग सुनते ही आ रहें होंगे। और हाल ही में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के मुख से आप ने वन नेशन वन राशन कार्ड प्रणाली के बारे में भी सुना ही होगा। उसी के ही तर्ज पर अब शिक्षा में भी एक क्लास एक चैनल की शुरुआत होने जा रही है। शिक्षा के क्षेत्र में इसे बहुत बड़ा सुधार माना जा रहा है। केंद्र के इस फैसले को शिक्षा के क्षेत्र में ऐतिहासिक निर्णय के तौर पर देखा जा रहा है। एक क्लास एक चैनल और एक प्लेटफार्म के माध्यम से छात्र-छात्राएं एक साथ आॅनलाइन पढ़ाई कर सकेंगे। अभी तक स्कूलों में छात्रों को पढ़ाने के अलग-अलग तरीके देखने को मिले है। इसकी वजह देश में अलग-अलग बोर्डो और उनके पाठ्यक्रमों का होना माना जा रहा है।

रविवार को आत्मनिर्भर पैकेज के तहत प्रधानमंत्री ई-विधा प्रोग्राम शुरू करने की घोषणा की गई। वित्त मंत्री ने बताया कि दूरदर्शन व डिश के माध्यम से बच्चे घर बैठे पढ़ाई कर सकेंगे। पढ़ाई को आसान बनाने के लिए कक्षा पहली से 12वीं तक के छात्रों के लिए अलग-अलग चैनल होगा।

Advertisements