भारती ठाकुर ने ग्रामीण बच्चों की जिंदगी संवारने के लिए समर्पित किया अपना जीवन

इंदौर।

नर्मदा किनारे के गांवों में गरीब नाविकों-श्रमिकों के बच्चों की जिंदगी संवारने को भारती ठाकुर ने जीवन समर्पित कर दिया है। महाराष्ट्र की रहने वाली हैं, लेकिन सबकुछ छोड़कर पिछले 10 साल से वह स्थायी तौर पर यहां निवासरत हैं। रक्षा विभाग में कार्यरत थीं। नर्मदा परिक्रमा के दौरान गांवों में अशिक्षा और पिछड़ापन देखा तो तय किया कि यहां रहकर सेवा करेंगी।

मुफ्त स्कूली शिक्षा के साथ ही बच्चों को कौशल विकास का प्रशिक्षण देकर उन्हें हुनरमंद भी बना रही हैं। इस महायज्ञ में धीरे-धीरे उनके साथ आसपास के कई और लोग भी जुड़ गए हैं। मंडलेश्वर, मध्यप्रदेश के नजदीक लेपा गांव ही अब उनका स्थाई ठिकाना है। भारत सरकार के रक्षा विभाग में प्रशासनिक अधिकारी के पद पर काम करने वाली भारती ने वर्ष 2005-06 में अमरकंटक से वापस अमरकंटक तक 3200 किलोमीटर की पैदल नर्मदा परिक्रमा संपन्न की थी। इस दौरान उन्होंने पाया कि ग्रामीण क्षेत्र में शिक्षा का बहुत बुरा हाल है। आठवीं-दसवीं के बच्चों को अपना नाम भी ठीक से लिखते नहीं आता। डिप्टी कलेक्टर पिता की बेटी को ग्रामीण शिक्षा की बदतर हालत ने इतना द्रवित किया कि 10 साल पहले ही सरकारी नौकरी छोड़कर मंडलेश्वर के नजदीक नर्मदा किनारे के लेपा गांव को अपनी कर्मस्थली बना लिया। लेपा में स्कूल शुरू किया। नाविकों और मजदूरों के बच्चों को 10वीं तक मुफ्त शिक्षा देना आरंभ किया। आज लेपा के अलावा भट्याण और छोटी खरगोन में ऐसे तीन निश्शुल्क स्कूल चला रही हैं। बच्चों को बुनियादी शिक्षा के साथ ही कौशल विकास का भी प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

भारती के इस अभियान की बदौलत 1700 बच्चे लाभान्वित हो रहे हैं। हर दिन 400 बच्चों को निःशुल्क भोजन भी दिया जाता है। नर्मदा के किनारे होने से शिक्षा का यह मंच अब नर्मदालय बन चुका है। भारती बताती हैं, हम बच्चों को शिक्षा के साथ-साथ रोजगारविषयक प्रशिक्षण भी देते हैं। फर्नीचर इत्यादि बनाना इसमें शामिल है। स्कूल के लिए जरूरी फर्नीचर वे खुद ही बना लेते हैं। जिस तरह मां अपने किसी बेटे की खूबियों को बताते हुए गर्वित होती है, ठीक उसी तरह भारती बताती हैं, हमारे स्कूल का विद्यार्थी शंकर केवट भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र के ग्रामीण टेक्नोलॉजी सेंटर के जरिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सोलर ड्रायर प्रोजेक्ट का प्रेजेंटेशन देकर आया है।

Advertisements