गढ़वाल विवि के दीक्षा समारोह में एनएसए डोभाल को मानद उपाधि और 45 छात्रों को स्वर्ण पदक

श्रीनगर (गढ़वाल)।

रविवार को श्रीनगर गढ़वाल केंद्रीय विश्वविधालय का सातवां दीक्षा समारोह मनाया गया। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री निशंक व राष्ट्रीय सलाहाकार अजित डोभाल ने युवाओं को चुनौतियों से पार पाने की सीख दी। कहा, जीवन में हमेशा एक योद्धा के रूप में आगे बढ़ने का जज्बा रखें तो कभी हार नहीं होगी। उपाधि लेने के बाद व्यवहारिक जीवन में प्रवेश करने पर केवल नौकरी तक ही सीमित नहीं रहें। क्लास रूम से बाहर आकर समाज में अपनी उपलब्धि दर्ज कराएं। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हमें मेक इन चाइना, मेक इन अमेरिका नहीं, वरन मेक इन इंडिया को प्रभावी बनाना है।

समारोह में 45 छात्र-छात्राओं को स्वर्ण पदक दिए गए। इनमें 36 छात्रों के नाम रहे। विश्वविद्यालय के बिड़ला परिसर की छात्र रश्मि डोभाल को पांच स्वर्ण पदक दिए गए। इसमें श्री बदरीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति स्वर्ण पदक, श्रीमती सावित्री देवी स्वर्ण पदक, श्रीराम प्रपन्नाचार्य संस्कृत ट्रस्ट स्वर्ण पदक, डा. डीएन शास्त्री स्मृति स्वर्ण पदक के साथ ही संस्कृत विषय में सर्वाधिक अंक हासिल करने पर विश्वविद्यालय की तरफ से स्वर्ण पदक दिया गया। रश्मि डोभाल ने इसे गौरवपूर्ण क्षण बताया और कहा कि माता-पिता से उसे हमेशा आगे बढ़ने की प्रेरणा मिली। डीएवी देहरादून के छात्र रहे हरदीप सिंह को इतिहास में स्वर्ण पदक मिला। इसके अलावा दीक्षा समारोह में 419 छात्र-छात्राओं को स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों की उपाधि दी गईं।

Advertisements