सरकारी और निजी स्कूलों की होगी जियो टैगिंग, फर्जीवाड़े पर लगेगा अंकुश

नई दिल्ली।
देशभर के सरकारी और निजी स्कूलों में अक्सर फर्जीवाड़ा देखने को मिलता ही रहता हैं। इसका मुख्य कारण यह है कि देशभर में कई प्रकार के बोर्ड संचालित किए जा रहें है। इनमे सरकारी और निजी स्कूल दोनों शामिल है। और इनकी तादाद लाखों में है। ऐसे में केंद्र सरकार के पास इन स्कूलों का सही आकलन नहीं है। उदाहरण के तौर पर जैसे शिक्षकों की संख्या, छात्रों की संख्या इत्यादि। जिसके चलते सरकार फर्जीवाडा रोकने में अधिकांश असमर्थ देखी गयी है। ऐसे में केंद्र सरकार अब देशभर के सभी स्कूलों की जियो टैगिंग कराने जा रहीं है। जियो टैगिंग से सरकार सभी स्कूलों की सही जानकारी ले सकेगा। इसकेे लागू होने से सरकारी और निजी स्कूलों में चले रहे फर्जीवाड़े पर अंकुश लगना तया है। उम्मीद है कि अगले छह माह के भीतर सब कुछ आॅनलाइन होगा। खास बात यह है कि इसमें निजी और सरकारी दोनों स्कूल शामिल है।

Advertisements