केंद्रीय विवि में अगले साल तक शिक्षकों के सभी रिक्त पद भरे जाएंगे

नई दिल्ली।
केंद्रीय विश्वविधालयों में शिक्षकों की कमी पिछले कई सालों से महसूस हो रही है। शिक्षकों की कमी के चलते शिक्षा की गुणवत्ता पर भी इसका सीधा असर पड रहा है। शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए केंद्र सरकार नये-नये प्रयास कर रही है। केंद्र सरकार की माने तो अगले साल तक देश के सभी केंद्रीय विवि में शिक्षकों की कमी को दूर किया जाएगा। यूजीसी रिपोर्ट के अनुसार मौजूदा समय में केंद्रीय विवि में शिक्षकों के तकरीबन सात हजार पद खाली पड़े हुए है। केंद्र सरकार ने यूजीसी के साथ मिलकर अगले वर्ष तक इन सभी पदों को भरने का लक्ष्य रखा है। केंद्र सरकार का कहना है कि यदि कोई रुकावट नहीं आई तो बहुत जल्द केंद्रीय विवि में शिक्षकों के सभी रिक्त पदों को भरा जाएगा। ज्यादातर विश्वविद्यालयों में शिक्षकों की चयन प्रक्रिया अंतिम चरण में है। इनमें प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर और सहायक प्रोफेसर जैसे पद शामिल है।

Advertisements