छात्रवृत्ति घोटाले में शामिल संस्थानों पर एसआइटी ने दिए कार्रवाई के संकेत

देहरादून।

दशमोत्तर छात्रवृत्ति घोटाले में शामिल सरकारी, गैर सरकारी और निजी संस्थानों पर अब कार्रवाई होना तय है। छात्रवृत्ति घोटाले की जांच कर रही एसआइटी ने सारे सबूत जुटा लिए है। सबूतों के आधार पर एसआइटी दून के प्राइवेट कॉलेज संचालकों की गिरफ्तारी की तैयारी में जुट गई है। इसके अलावा समाज कल्याण विभाग की कुंडली भी एसआइटी ने तैयार कर ली है। जल्द इस मामले में भी बड़ी कार्रवाई हो सकती है। दरअसल, दशमोत्तर छात्रवृत्ति आवंटन में करोड़ों रुपये घोटाले की जांच पुलिस की एसआइटी कर रही है। हरिद्वार में कई प्राइवेट कॉलेज के संचालकों की गिरफ्तारी के बाद अब एसआइटी दून पर फोकस कर रही है। सूत्रों का कहना है कि एक-एक कॉलेज में 10 से 20 करोड़ तक की छात्रवृत्ति बांटी गई है। इसमें आधी से ज्यादा छात्रवृत्ति फर्जी तरीके से बांटी गई है। इसके दायरे में 26 सरकारी और प्राइवेट कॉलेजों के खिलाफ जांच चल रही है।

Advertisements