विज्ञान शिक्षा, अनुसंधान में फोकस की जरूरत

विज्ञान शिक्षा, अनुसंधान में फोकस की जरूरत

उत्तराखण्ड दिवस पर यूसर्क ने जल के सूक्ष्म जैविक विश्लेषण विषय पर प्रयोगात्मक प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया। डाॅल्फिन पीजी इंस्टीट्यूट में यह कार्यशाला तीन दिनों तक चलेगी। यूसर्क की निदेशक प्रो. अनीता रावत ने कहा कि राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर हम सभी को अपने राज्य को अग्रिम पंक्ति में लाने का संकल्प लेना होगा। इसके लिए विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान के क्षेत्र में और काम किए जाए। उन्होंने कहा कि प्रकृति में पंच महाभूतों में से एक तत्व जल के बिना जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है। यूसर्क की ओर से इस जल तत्व के महत्व को समझते हुये इसके विभिन्न प्रकार के अध्ययनों संरक्षण एवं संवर्धन का कार्य शुरू किया गया है। यूसर्क के वैज्ञानिक डाॅ. भवतोष शर्मा ने कहा कि उत्तराखण्ड के जलस्रोत प्रदेश के साथ-साथ आस-पास के अन्य प्रदेशों को भी जल उपलब्ध कराते हैं। इनको संरक्षित रखना जरूरी है। इस मौके पर डाॅल्फिन इंस्टीट्यूट की प्राचार्या डाॅ. शैलजा पंत डाॅ. गौरी सिंह डाॅ. ज्ञानेंदª अवस्थी भी मौजूद रहे।

 

Advertisements