आयुर्वेद विवि में केंद्र के मानको के अनुरूप नियुक्त किए जाएंगे नए रजिस्ट्रार

देहरादून।
उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविधालय में नए रजिस्ट्रार कि नियुक्ति पर हर बार विवाद को देखते हुए, प्रदेश सरकार ने अपने रुख में बदलाव करने का निर्णय लिया है। प्रदेश सरकार की माने तो अब नए कुलसचिव की नियुक्ति केंद्र सरकार कि नियमावली के माध्यम से कि जाएगी। इस संबंध में बुधवार को प्रदेश सरकार ने सदन में उत्तराखण्ड आयुर्वेद विवि संसोधन विधेयक 2018 को पेश किया। विधेयक पास होने के बाद कुलसचिव के पद पर मनमाने तरीके से किसी को भी नहीं बिठाया जा सकेगा। नए कुलसचिव को अब केंद्र के मानको पर खरा उतरना पडेगा। उसके बाद ही उसकी नियुक्ति कि जाएगी।

Advertisements