रिजल्ट से जुडीं खामियों को दूर करने में जुटा एमकेपी और गढ़वाल विवि

देहरादून।

एमकेपी में छात्राओं को कॉलेज और गढ़वाल विवि की लचर व्यवस्था का खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। यहां बीए पांचवें सेमेस्टर की छात्राओं का परिणाम दो साल बाद भी जारी नहीं हो सका है। इससे 200 छात्राएं प्रभावित हैं।

बीए पांचवें सेमेस्टर में पहुंच चुकी छात्राओं का पहले सेमेस्टर का परिणाम लटका है। छात्राओं ने पहले सेमेस्टर में अंग्रेजी की परीक्षा दी थी। जिसमें 250 छात्राओं की बैक लग गई। इन छात्राओं ने तीसरे सेमेस्टर में दोबारा बैक पेपर दिए। इसका परिणाम आने पर कुछ को अनुपस्थित दिखाया गया है और कई छात्राओं को शून्य नंबर दिए गए हैं।

Advertisements