अतिथि शिक्षकों के ऊपर मंडरा रहा वेतन का खतरा, नहीं मिला दो माह से वेतन

देहरादून।
प्रदेश के स्कूलों में करीब चार हजार अतिथि शिक्षक तैनात है। अतिथि शिक्षकों को करीब दो से तीन महीने का वेतन नहीं मिला है। वेतन नहीं मिलने से शिक्षकों के ऊपर आर्थिक तंगी का खतरा मंडरा रहा है। वेतन की तंगी से जूझ रहें अतिथि शिक्षकों का कहना है कि एक स्थायी कर्मचारी के समान सेवाएं देने के बावजूद भी उन्हें समय पर वेतन नहीं मिल पा रहा है। जबकि सरकारी शिक्षकों को समय पर वेतन मिल रहा है और दोनो ही शिक्षक समान सेवाएं दे रहें हैं, ऐसे में दोहरा व्यवहार क्यों? अतिथि शिक्षकों का कहना है कि शासन-प्रशासन को इस पर विचार करना चाहिए और सबको समय पर वेतन जारी करने की व्यवस्था लागू करनी चाहिए।

Advertisements