इंटर प्रेक्टिकल में आधे नंबर स्कूली शिक्षक देंगे

इंटर प्रेक्टिकल में आधे नंबर स्कूली शिक्षक देंगे

पहली बार उत्तराखण्ड विद्यालयी शिक्षा परिषद ने इंटरमीडिएट के विषयों के प्रैक्टिकल कराने की व्यवस्था में बदलाव किया गया है। अब छात्र-छात्राओं को दूसरे जिलों से आने वाले परीक्षक प्रैक्टिकल के आधे नंबर देंगे। आधे नंबर स्कूल के ही शिक्षक को देने का अधिकार दिया गया है। इससे पहले बाहर से आने वाले परीक्षक ही प्रयोगात्मक परीक्षा कराकर छात्रों की मेहनत के अनुकूल नंबर देते आ रहे थे। साल 2023 में होने वाली हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षाओं के लिए प्रदेशभर में 1250 परीक्षा केंदª बनाए गए हैं। बोर्ड के अधिकारियों के अनुसार फरवरी में हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के प्रयोगात्मक परीक्षा कराने की व्यवस्थाओं में बदलाव किया गया हैं। आधे नंबर स्कूल के शिक्षक छात्रों का प्रोजेक्ट आदि को देखकर देेेेंगे। यह व्यवस्था बोर्ड में पहली बार हो रही है। इस संबंध में जिलों के सीईओ को निर्देश दिए गए हैं। हाईस्कूल में व्यवस्था यथावत रहेगी।

Advertisements