उत्तराखण्ड में छह मेडिकल कॉलेज खोलने की तैयारी

उत्तराखण्ड में छह मेडिकल कॉलेज खोलने की तैयारी

उत्तराखण्ड के जिन जिलों में मेडिकल कॉलेज मंजूर नहीं हैं वहां नए कॉलेज खोलने के लिए चिकित्सा शिक्षा विभाग ने जिलों से जमीन मांगी है।चिकित्सा शिक्षा विभाग ने जिलों से जमीन मांगी है। चिकित्सा शिक्षा निदेशालय की ओर से इसके लिए सीएमओ को पत्र लिखे गए हैं।
दरसअल, केंद्र सरकार मेडिकल कॉलेज विहीन जिलों में नए मेडिकल कॉलेज खोलने के लिए 90 प्रतिशत बजट दे रही है। इसके लिए शर्त यह है कि उस जिले में एक रनिंग अस्पताल हो। राज्य के छह जिले अभी ऐसे हैं जहां के लिए अभी तक मेडिकल कॉलेज मंजूर नहीं है। ऐसे में इस योजना के तहत इन जिलों में मेडिकल कॉलेज खोलने की कवायद शुरू की जा रही है। चिकित्सा शिक्षा विभाग के निदेशक डॉ. आशुतोष सयाना ने बताया कि मेडिकल कॉलेेज खोलने के लिए जिला प्रशासन को पत्र लिखे गए हैं। उन्होने बताया कि जिले के रनिंग अस्पताल के दस किमी दायरे में 20 एकड़ जमीन मेडिकल कॉलेज के लिए चाहिए होगी। इसके साथ ही अस्पताल के पास भी पांच एकड़ जमीन होना जरूरी है। डा. सयाना ने बताया कि जिन जिलो में मेडिकल कॉलेज नहीं हैं वहां नया कॉलेज खोलने के लिए केंद्र सरकार 90 प्रतिशत बजट देने को तैयार हैं।

 

Advertisements