UP Board: बोर्ड ने जारी की अंक सुधार परीक्षा के लिए समय सारणी, 18 सितंबर से शुरू होंगे एग्जाम

UP Board: बोर्ड ने जारी की अंक सुधार परीक्षा के लिए समय सारणी, 18 सितंबर से शुरू होंगे एग्जाम

UP Board Improvement Exam: ;यूपी बोर्ड की अंक सुधार परीक्षा सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में परीक्षा होगी। बोर्ड द्वारा जारी विज्ञप्ति के मुताबिक परीक्षा में कोई भी आश्वासन नहीं दिया जाएगा। परीक्षा शुरू होने से 15 मिनट पहले प्रश्न पत्र दिया जाएगा।

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर कक्षा दसवीं और बारहवीं की अंक सुधार परीक्षा की समय सारणी जारी कर दी है। यूपी बोर्ड द्वारा यह परीक्षा 18 सितंबर से 6 अक्तूबर तक आयोजित की जाएगी। बता दें कि यह परीक्षा तकरीबन सवा दो घंटे की होगी। कोरोना महामारी की वजह से इसे दो पालियों में आयोजित किया जाएगा। पहली पाली सुबह 8 बजे से 10.15 बजे तक और दूसरी पाली दोपहर 2 बजे से 4.15 बजे तक आयोजित की जाएगी। इस परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले विद्यार्थी यूपी बोर्ड की वेबसाइट पर जाकर टाइम टेबल डाउनलोड कर सकते हैं।

इस बार 2895 छात्र देंगे अंक सुधार परीक्षा
इस बार तकरीबन 2895 विद्यार्थियों ने अंक सुधार परीक्षा के लिए आवेदन किया है। इन परीक्षार्थियों के लिए लखनऊ में नौ परीक्षा केंद्र बना गए हैं, जहां सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में परीक्षा होगी। बोर्ड द्वारा जारी विज्ञप्ति के मुताबिक परीक्षा में कोई भी आश्वासन नहीं दिया जाएगा। परीक्षा शुरू होने से 15 मिनट पहले प्रश्न पत्र दिया जाएगा। इसके अलावा दिव्यांग तथा दृष्टिबाधित परीक्षार्थियों को परीक्षा हेतु निर्धारित अवधि के अतिरिक्त 20 मिनट प्रति घंटे के हिसाब से दिए जाएंगे। बता दें कि अंक सुधार परीक्षा केवल लिखित परीक्षा के लिए होगी। प्रयोगात्मक परीक्षा में पहले मिले अंकों को ही अंतिम माना जाएगा। 

अंक सुधार परीक्षा के लिए मिले थे 79 हजार से भी ज्यादा आवेदन
बता दें कि उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) को अंक सुधार परीक्षा के लिए कक्षा दसवीं और बारहवीं से कुल 79,286 आवेदन प्राप्त हुए हैं। इसमें से 37,931 आवेदन कक्षा दसवीं और 41,355 आवेदन कक्षा बारहवीं के विद्यार्थियों के हैं। गौरतलब है कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर की वजह से यूपी बोर्ड ने बोर्ड परीक्षा को रद्द कर दिया था। जिसके बाद आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर 31 जुलाई को हाई स्कूल और इंटरमीडिएट का परिणाम घोषित किया गया। इस मूल्यांकन नीति के आधार पर जारी किए गए परिणाम से असंतुष्ट विद्यार्थियों से अंक सुधार परीक्षा के लिए 27 अगस्त तक आवेदन आमंत्रित किए गए थे।

 

Advertisements